आदर्श ग्राम पोटलोद के 50 घरों में शौचालय नहीं

Thursday, October 15, 2015 - 14:40

इंदौर पत्रिका। एक ओर लोकसभा स्पीकर व सांसद सुमित्रा महाजन बैठकें लेकर पंचायतों को साफ-स्वच्छ रखने की बात कह रही हैं, वहीं सांसद के गोद लिए गाँव पोटलोद के 50 घरों में शौचालय ही नहीं है।

 

अब तक इंदौर जिले की 84 पंचायतों ने खुद को ओडीएफ (खुले में शौच से मुक्त) होने का दावा पेश किया है। वहीं आदर्श ग्राम पोटलोद पिछड़ गया है। अब तक 84 पंचायतें ओडीएफ होने का दावा कर चुकी है। पोटलोद के पास की खलखला पंचायत और दूसरी पंचायतों ने खुद को ओडीएफ घोषित कर दिया, लेकिन यहाँ अभी भी कई घरों में शौचालय नहीं हैं। आदर्श गाँव के सरपंच ओमप्रकाश मंडलोई का कहना है, अभी 50 से अधिक घरों में शौचालय नहीं है। कोशिश है, एक माह में सभी घरों में बन जाएँ। यहाँ प्रशासन साढ़े चार करोड़ से अधिक के काम करवा चुका है। कलेक्टर और अधिकारी लगातार दौरा कर रहे हैं।

 

महानगर विकास परिषद के कार्यक्रम में बोलीं महाजन

 

बात-बात पर नगर निगम को कोसना ठीक नहीं है। गन्दगी हटाना निगम की जिम्मेदारी जरूर है, लेकिन निगम को दोष देने से पहले खुद में बदलाव लाना उससे भी ज्यादा जरूरी है।

 

यह कहना है इंदौर की सासंद व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन का। वे महानगर विकास परिषद के बैनर तले हुए एक आयोजन में मौजूद थीं। लोकसभा स्पीकर ने स्वच्छता को लेकर क्रेडाई की तारीफ की और बताया कि क्रेडाई के साथ मिलकर किस तरह बायोगैस व वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट लगाने पर विचार किया जा रहा है। महाजन ने इंदौर में स्वच्छता को लेकर अपने कुछ सुझाव सभा में रखे।

 

गाँवों को देंगे प्रमाणपत्र

 

सांसद महाजन ने बताया, इंदौर में 50 गाँवों के सरपंचों ने अपने गाँव पूर्णतः खुले में शौच से मुक्त होने का दावा किया है। इनमें से 25 गाँवों का अफसर औचक दौरा कर चुके हैं। अब इन्हें प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। दीपावली के एक दिन पहले पूरे इंदौर में मन्दिरों में सफाई अभियान चलाने के लिए समाजजनों से आगे आने की अपील भी उन्होंने की। महापौर गौड़ ने बताया, टॉप 20 स्मार्ट सिटी की दौड़ में इंदौर सुझाव के मामलों में नम्बर एक पोजीशन पर है।

 

जीरो गारबेज पर काम

 

क्रेडाई मध्यप्रदेश के प्रभारी विजय मीरचंदानी ने कहा, इंदौर में सभी 120 क्रेडाई सदस्य मिलकर केरल के अस्सी हजार घरों में चल रहे जीरो गारबेज सिस्टम पर काम कर रहे हैं, जिसे इंदौर में भी लागू करने का प्लान तैयार किया जा रहा है। जीरो गारबेज सिस्टम में चालीस फ्लैटों से निकलने वाले कचरे को वहीं बायोगैस सिस्टम में डाल दिया जाता है।

 

स्वच्छता के प्रहरी सम्मानित

 

स्वच्छता महाअभियान में उस संस्थानों और व्यक्ति विशेष का सम्मान किया गया, जो लम्बे समय से स्वच्छता की अलख जगाते आ रहे हैं। इनमें गुजराती समाज की ओर से वार्ड 70 की मणिबेन पटेल, सन्त निरंकारी चेरिटेबल संस्थान की ओर से इन्दिरा दावानी, पेपरबेग बाँटने वाले गोविन्द रिहालकर व समाजसेवी अशोक जोशी का सम्मान भी किया गया। विधायक सुदर्शन गुप्ता, निगम सभापति अजय नरूका, पार्षद देड़गे मौजूद थे।

 

साभार : राजस्थान पत्रिका 12 अक्टूबर 2015

TAGS