खुले में शौच से मुक्त हुए जनपद के चार गाँव

Saturday, October 3, 2015 - 11:32

कल्पतरु समाचार सेवा मथुरा। जनपद के चार गाँव को खुले में शौच से मुक्त करवाकर प्रशासन ने महात्मा गाँधी की जयंती पर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दी है। जिलाधिकारी विजय किरन आनन्द ने कहा कि 26 जनवरी 2016 तक 135 गाँव का लक्ष्य एवं 15 अगस्त तक पूरे जनपद को खुले में शौच मुक्त कर प्रदेश का पहला जनपद होने का गौरव दिलाएँगे। गाँव में स्थापित की गई चारों निगरानी समितियों से खुले में शौच मुक्त होने का लिखित में शपथ पत्र लिया गया।

 

जिलाधिकारी विजय किरन आनन्द ने कलक्ट्रेट सभागार में गाँधी जयंती के अवसर पर राष्ट्रपिता व लालबहादुर शास्त्री के चित्र पर माल्यार्पण कर रामधुन गायन के साथ कार्यक्रम का शुम्भारभ किया। खुले में शौच से मुक्त होने वाले गाँवों में सन्दलपुर, ऊँधनी, गढ़ी तिवारी व धरमई शामिल हैं। उन्होंने कहा कि स्वच्छता गाँधी के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, स्वच्छता मे ही ईश्वर का निवास है। 19 सितम्बर से चलाए जा रहे खुले में शौच मुक्त अभियान के अन्तर्गत मात्र 15 दिन में जनपद के चार गाँवों को शत-प्रतिशत खुले में शौच से मु्क्त करा लिया गया है।

 

इस अवसर पर एडीएम कर्मेन्द्र सिंह ने गाँधी जी के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि स्वतन्त्रता के लिए गाँधीजी ने जन मानस को एक साथ जोड़ने का कार्य किया। जिला पंचायत राज अधिकारी बनवारी सिंह ने कहा कि खुले में शौच मुक्त मुहिम पूरे जनपद में जोर-शोर से चलाई जाएगी। कार्यक्रम के दौरान जिला बन्दोबस्त अधिकारी पुष्कर बाबू व पूर्व जिलाधिकारी सहित कलक्ट्रेट के कर्मचारियों ने अपने-अपने विचार व्यक्त किए।

 

ये लोग हुए सम्मानित

 

कार्यक्रम के दौरान इन गाँवों में स्थापित निगरानी समितियों के सक्रिय सदस्य गाँव सन्दलपुर के प्रेम सिंह शर्मा, सत्यपाल, मुन्नीलाल, गाँव धरमई के नवल सिंह, राजेन्द्र सिंह, जब्बीर खाँ, गाँव ऊँधनी के जीशान अली, मुकेश, रामजीलाल, रामनाथ, आशादेवी, गढ़ी तिवारी के दिनेश प्रताप सिंह, कप्तान सिंह, जिनेन्द्रपाल, वेदराम, महाराज श्री एवं खण्ड प्रेरक दयाशंकर को जिलाधिकारी ने सम्मानित करते हुए इनके अनुभवों को सुना और आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह अभियान निरन्तर जनपद के सभी गाँवों में चलाया जाएगा। कार्यक्रम में वर्ल्डबैंक के वेंकटेश ने स्वच्छता कार्यक्रमों की अनेकों जानकारियाँ दी।

 

साभार : कल्पतरु एक्सप्रेस 3 अक्टूबर 2014

 

TAGS