कलक्ट्रेट पर शौचालय गन्दे, लघुशंका के भी इंतजाम नहीं

Monday, June 29, 2015 - 12:29

कल्पतरु समाचार सेवा मथुरा। प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता अभियान का यहाँ कलक्ट्रेट पर असर नजर नहीं आ रहा। कलक्ट्रेट परिसर में शौचालय गन्दे पड़े रहते हैं। वहीं अधिवक्ता, कर्मचारी एवं आमजनों के लिए मूत्रालय की व्यवस्था न होने से अप्रिय दृश्य दिखाई देते हैं।

 

पुरुषों की बात दीगर, महिलाओं के लिए खुले में लघुशंका करना और भी ज्यादा परेशान करने वाला है। नागरिक सुरक्षा संगठन कार्यालय के समीप शौचालय में सफाई की उचित व्यवस्था नहीं है।

 

जिलेभर की समस्याओं के निदान के लिए कलक्ट्रेट पर बैठने वाले जिलाधिकारी एवं अधीनस्थ अधिकारियों को जनसुविधाओं की ज्यादा चिन्ता प्रतीत नहीं होती। कलक्ट्रेट परिसर में ठण्डे पेयजल की समस्या का आंशिक निदान शनिवार को निर्माण कम्पनी के सौजन्य से लगे आरओ प्लांट के लोकार्पण से हो गया। पहले इस स्थान पर वाटर कूलर लगा था। इसके खराब होने पर अधिवक्ता, कर्मचारियों एवं आम जनता को ठण्डे पानी के लिए भटकना पड़ता था। जब अधिवक्ताओं के साथ कलक्ट्रेट कर्मचारियों ने दबाव बनाया तब जाकर आरओ प्लांट लगवाया गया। कलक्ट्रेट परिसर में शौचालय एवं मूत्रालयों की समस्या भी कम नहीं है। अधिवक्ता, कर्मचारी एवं रोजमर्रा के कार्य से आने वाले लोग जहाँ-तहाँ सुविधाजनक जगह मिलने पर लघुशंका करते नजर आते हैं।

 

इससे जिले की धार्मिक छवि के साथ ही अधिकारियों की इज्जत पर भी बट्टा लग रहा है। पुरुषों की बात दीगर, महिलाओं के लिए खुले में लघुशंका करना और भी ज्यादा परेशान करने वाला है। नागरिक सुरक्षा संगठन कार्यालय के समीप शौचालय में सफाई की उचित व्यवस्था नहीं है। इसे भी शिकायतों के बाद हाल ही में जन-सामान्य के लिए खोला गया है।

 

उत्तर प्रदेशीय मिनीस्ट्रीयल कलक्ट्रेट कर्मचारी संघ की जिला इकाई ने इस मामले को जिलाधिकारी के समक्ष उठाया है।

 

बीते छह जून को जिलाधिकारी को दिए माँग पत्र में संघ के जिलाध्यक्ष रामवीर शर्मा एवं मन्त्री कृष्ण गोपाल अग्रवाल ने कहा है कि कलक्ट्रेट परिसर में कहीं भी मूत्रालय न होने से विषम हालात पैदा हो गए हैं। पदाधिकारी द्वय ने एनआईसी, वक्फ कार्यालय एवं होम्योपैथिक औषधालय के समीप मूत्रालय बनवाए जाने का अनुरोध किया है। उन्होंने मौजूदा शौचालयों की नियमित सफाई कराए जाने की माँग भी की है।

 

साभार : कल्पतरु एक्सप्रेस 29 जून 2015

TAGS