श्रावस्ती के 150 गाँवों में बनेंगे 25 हजार शौचालय

Friday, April 24, 2015 - 10:29

श्रावस्ती। उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती जिले के 150 गाँवों में स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत 25 हजार नए शौचालयों का निर्माण किया जाएगा। यह निर्माण मुख्य रूप से लोहिया तथा जेई/ एईएस प्रभावित गाँवों के अलावा नदी कछार, बाजार के नजदीक के गाँवों तथा बार्डर एरिया के गाँवों में भी कराया जाएगा। शौचालयों के निर्माण हेतु गाँवों के चयन के बाद अब वहाँ शौंचालयों की वर्तमान स्थिति और आवश्यकता के सम्बन्ध में जानकारियाँ एकत्र की जा रही हैं।

 

शौचालय निर्माण में किसी तरह की अनियमितता शिकायत पर सख्त कार्रवाई होगी। श्रावस्ती के जिलाधिकारी निखिल चन्द्र शुक्ल का मानना है कि आँकड़ों के अनुसार गन्दगी रोगों के साथ बच्चों की मौत का सबसे बड़ा कारण है। क्योंकि गन्दगी से ही संक्रामक बीमारियाँ जैसे जेई, एईएस आदि पनपती हैं। इससे प्रभावित होने के बाद जो बच्चे बच भी जातें हैं वे शारीरिक व मानसिक रूप से अस्वस्थ्य ही रहते हैं। वैज्ञानिकों ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है कि कुपोषण का सीधा सम्बंन्ध साफ-सफाई की खराब व्यवस्था तथा गन्दे वातावरण से है। ऐसे में ग्रामीणांचलों में स्वच्छता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से स्वच्छ भारत मिशन योजनान्तर्गत 25 हजार शौचालयों का निर्माण कराया जाएगा।

 

डीएम ने बताया कि इन शौचालयों का निर्माण चयनित लोहिया गाँवों और जेई/एईएस प्रभावित गाँवों के अलावा कछार व बाजार किनारे बसे गाँवों में कराया जाएगा। इसके अलावा बार्डर एरिया पर बसे करीब 25 गाँवों में भी शौचालय बनवाएं जाएंगे। शौचालय निर्माण हेतु प्रत्येक लाभार्थी को 12 हजार रुपए मिलेंगे। लाभार्थी चाहे तो उक्त सरकारी धनराशि में कुछ और पैसे मिलाकर शौंचालय को बेहतर बनवा सकता है।

 

गन्दगी रोगों के साथ बच्चों की मौत का सबसे बड़ा कारण है। क्योंकि गन्दगी से ही संक्रामक बीमारियाँ जैसे जेई, एईएस आदि पनपती हैं। इससे प्रभावित होने के बाद जो बच्चे बच भी जातें हैं वे शारीरिक व मानसिक रूप से अस्वस्थ्य ही रहते हैं।

 

लाभार्थी खुद बनवाएं शौचालय

 

डीएम निखिल चन्द्र शुक्ल ने बताया कि शौचालय निर्माण में अनियमितता की शिकायत अकसर सुनने में आती है। इससे निदान के लिए लाभार्थी खुद अपने शौचालय का निर्माण कराएं। जिससे बेहतर शौचालय बन सके और वे उसका लाभ उठा सके। उन्होंने लाभार्थियों से अपील कि की चयनोपरान्त लाभार्थी उनसे सम्पर्क कर शौचालय निर्माण का प्रस्ताव रखें। लाभार्थियों को छह हजार रुपए की पहली किस्त दी जाएगी। निर्माण पूरा होने के बाद छह हजार रुपए की दूसरी किस्त भी दे दी जाएगी।

 

शौचालय निर्माण के लिए चयनित गाँव

 

बार्डर एरिया डेवलपमेंट के तहत हरिहरपुर रानी के ककरदरी, तुरषमा, सिरसिया के मदारगढ़, लालपुर कुसमहवा, कटकुइयां, भरथारोशनगढ़, तालबघौड़ा, गब्बापुर, भगवानपुर, घोघवाकला, पटखौली, पुरेबाले, मोतीपुरकला, जमुनहा के सागर गाँव, बेलरी, गंगाभागड़, श्रीनगर, सोनपुरकला, लालबोझा, दरवेश, कलकलवा, बालापुर, जमुनहा, भवनियापुर, फत्तेपुर बनगई, बरगदवा तथा रामपुर गाँव में शौचालयों का निर्माण होगा।

 

साभार : डेली न्यूज ऐक्टिविस्ट 24 अप्रैल 2015

TAGS