निजी कंपनियां भी स्वच्छता अभियान में हिस्सा ले रही हैं

Thursday, November 27, 2014 - 13:17

निजी कंपनियां भी स्वच्छता अभियान में भागीदारी करती हुई दिख रही हैं। वल्र्ड टॉयलेट डे के मौके पर  डाबर इण्डिया लिमिटेड ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् (एनडीएमसी) के 35 सरकारी स्कूलों में बड़े पैमाने पर सफाई और जागरूकता अभियान शुरू किया। इस मुहिम की शुरूआत गोल मार्किट स्थित एनपी गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल से की गई।

इस मौके पर डाबर इण्डिया लिमिटेड के मार्केटिंग प्रमुख (होम केयर) अजय मोटवानी ने कहा कि स्कूलों में साफ-सफाई की कमी के कारण छात्राओं को बहुत शर्मिंदगी झेलनी पड़ती है। नतीजतन वे लड़कों के मुकाबले बहुत छोटी उम्र में ही स्कूल छोड़ देती हैं। एक जिम्मेदार कॉरपोरेट नागरिक होने के नाते कंपनी स्कूलों में छात्राओं के लिए साफ-सफाई की स्थिति को बेहतर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। सैनीफ्रेश स्वच्छ और कीटाणु-मुक्त सार्वजनिक शौचालय मुहैया कराने के लिए काम कर रहा है। एनपी गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल की प्रमुख मुक्ता सिंह ने कहा कि स्वस्थ जीवन बिताने और खुद को सामान्य बीमारियों से दूर रखने के लिए एक स्वस्थ पर्यावरण व कीटाणु मुक्त शौचालय हर लड़की की बुनियादी जरुरत है।

स्टार बल्लेबाज धवन ने उठाई झाडू

स्वच्छ भारत अभियान धीरे धीरे ही सही, लेकिन लोगों में सकारात्मक बदलाव ला रहा है। वे अब अपने आसपास के वातावरण को साफ रखने में योगदान देने लगे हैं। बीते दिनों बंगाली मार्केट में भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार बल्लेबाज और आरके ग्लोबल के ब्रांड अंबेस्डर शिखर धवन ने स्वच्छता अभियान का बीड़ा उठाया। उन्होंने कहा कि एक भारतीय होने के नाते वह अपने युवा प्रशंसकों को बताना चाहते हैं कि अगर वह अपने आसपास के वातावरण को साफ रखेंगे, तो भारत निश्चित रुप से अच्छा दिखाई देगा। उन्होंने युवाओं से अपील की कि वे अपनी कक्षा, स्कूल, घर और अपनी गलियों को साफ रखें। हमें उन लाखों लोगों को अपना सहयोग प्रदान करना चाहिए, जो देश को साफ बनाने के लिए चैबीसों घंटे काम कर रहे हैं।
 

स्रोत: प्रजातंत्र लाइव 20 नवम्बर 2014

TAGS